अभिप्रेरणा के प्रकार TYPES OF MOTIVATION IN HINDI

सकारात्मक और नकारात्मकअभिप्रेरणा

सकारात्मक अभिप्रेरणा

सकारात्मक अभिप्रेरणा लोगों को सर्वोत्तम संभव तरीके से काम करने और उनके प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए प्रेरित करती है। सकारात्मक अभिप्रेरणा या प्रोत्साहन अभिप्रेरणा इनाम या उपहार  पर आधारित है। श्रमिकों को वांछित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहन की पेशकश की जाती है। इसके तहत , उनके बेहतर प्रदर्शन के लिए बेहतर सुविधाएं और पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं। इस तरह के पुरस्कार और सुविधाएं वित्तीय और गैर-वित्तीय हो सकती हैं। एक विक्रेता के लिए सकारात्मक अभिप्रेरणा बिक्री लक्ष्य प्राप्त करना,  कमीशन में वृद्धि , पारिश्रमिक, मान्यता , पदोन्नति आदि का दावा करना हो सकता है ।

नकारात्मक अभिप्रेरणा : नकारात्मक या भय अभिप्रेरणा बल या भय पर आधारित है। डर कर्मचारियों को एक निश्चित तरीके से कार्य करने का कारण बनता है। अगर वे  वे तदनुसार कार्य नहीं करते हैं तो उन्हें पदावनति, पारिश्रमिक में कमी  या कंपनी से निकलकर  दंडित किया जा सकता है। भय एक धक्के की तरह कार्य करता है। इस तरह के अभिप्रेरण में  कर्मचारी स्वेच्छा से सहयोग नहीं करते हैं, बल्कि वे सजा से बचना चाहते हैं। किसी कंपनी में काम कर रहे  एक विक्रयकर्ता के लिए नकारात्मक अभिप्रेरणा यह हो सकता है कि उसे नौकरी से निकल दिया जायगा अगर वह  अच्छा प्रदर्शन नहीं करेगा |

आंतरिकअभिप्रेरणाऔर बाह्य अभिप्रेरणा

आंतरिक अभिप्रेरणा

इसका मतलब है कि व्यक्ति की प्रेरक उत्तेजनाएं उसके भीतर से आ रही हैं। व्यक्ति को एक विशिष्ट कार्य करने की इच्छा होती है, क्योंकि इसके परिणाम उसकी आतंरिक  विश्वास प्रणाली के अनुसार होते हैं या उसकी किसी इच्छा को पूरा करते हैं।  कुछ कारक जो एक विक्रेता की आंतरिक अभिप्रेरणा को प्रभावित करते हैं, उनमें सम्मान, पहचान , ताकत , शोहरत आदि शामिल हैं।

बाह्य अभिप्रेरणा

बाहरी अभिप्रेरणा का अर्थ है कि व्यक्ति की प्रेरक उत्तेजनाएं बाहर से आ रही हैं। दूसरे शब्दों में, किसी कार्य को करने की हमारी इच्छाओं को एक बाहरी स्रोत द्वारा नियंत्रित किया जाता है। बाहरी अभिप्रेरणा प्रकृति में बाहरी है। हम सबको अच्छी तरह से पता है की  सबसे अधिक बाह्य अभिप्रेरक  पैसा है।  और अन्य उदाहरण हो सकते हैं जेसे बेस्ट विक्रयकर्ता का इनाम पाना , बोनस पाना, पगार में वृद्धि इत्यादि |