वैयक्तित विक्रय की प्रकृति/उद्देश्य/कार्य NATURE/ OBJECTIVE/FUNCTIONS OF PERSONAL SELLING

(हालांकि प्रकृति, उद्देश्य, कार्य अलग-अलग चीजें हैं, नीचे दिए बिंदुओं को तीनों के संबंध में समझाया जा सकता है।छात्रों को चाहिए की इन बिन्दुओं को समझाने के लिए अपनी बुद्धि(अगर है तो) का उपयोग)

यह प्रमोशन मिक्स का एक हिस्सा है:  वैयक्तित विक्रय संवर्धनात्मक मिश्रण (प्रमोशन मिक्स) और कंपनी के विपणन कार्यक्रम में संचार मिश्रण (कम्युनिकेशन मिक्स) का हिस्सा है। अन्य तत्वों विक्रय संवर्धन, विज्ञापन, जनसंपर्क आदि की तरह ही यह कंपनी की उत्पाद के संवर्धन में मदद करती है |  

2. यह द्विपक्षीय संचार है: यह द्विपक्षीय संचार (टू-वे कम्युनिकेशन) के लिए सबसे अच्छा साधन है। सेल्समैन ग्राहक को कंपनी के उत्पाद के बारे में आवश्यक जानकारी प्रदान कर सकता है, और ग्राहक से जानकारी भी एकत्र कर सकता है। इसका अंतिम उद्देश्य ग्राहक को उत्पाद खरीदने के लिए राजी करना है।      

3. इसमें प्रस्तुति और अनुनय शामिल है: विक्रयकर्ता अपने उत्पाद को संभाव्य खरीदार को पेश करता है और विभिन्न कौशल और तकनीकों की मदद से भावी खरीदार को मनाने की कोशिश करता है।      

4. यह एक लचीला उपकरण है: वैयक्तित विक्रय अन्य प्रचार उपकरणों की तुलना में अधिक लचीला है। विक्रयकर्ता अपने ग्राहकों की प्रतिक्रिया को किसी विशेष विक्रय दृष्टिकोण के अनुसार देखते हैं और स्थिति के अनुसार अपने बिक्री प्रयासों में फेरबदल करते हैं।      

5. यह एक रचनात्मक उपकरण है वैयक्तित विक्रय रचनात्मक प्रकृति की होती है। विक्रयकर्ता संभाव्य के लिए किसी वस्तु को खरीदने की ज़रूरत महसूस कराने की कोशिश करता है। वह ग्राहक को उन ज़रूरतों से अवगत करता है और उत्पाद खरीदने के लिए उसे मनाने की कोशिश करता है । सेल्समैन बेचता नहीं है लेकिन वह संभाव्य ग्राहक के अंदर उत्पाद खरीदने की ललक पैदा करता है |

6. दीर्घकालिक संबंध: वैयक्तित विक्रय से व्यक्ति और संभाव्य खरीदार के बीच वैयक्तित संबंधों का विकास होता है | इस तरह के संबंधों का दीर्घकालिक अवधि में कंपनी के विक्रय बढ़ोत्तरी के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान है।      

7. अतिरिक्त जानकारी प्राप्त करना: आम तौर पर अपने उत्पाद को पेश करने से पहले एक कंपनी संभाव्य खरीदारों की प्राथमिकताओं से अवगत होती है। फिर भी वैयक्तित विक्रय के दौरान जब विक्रय व्यक्ति खरीदारों के साथ सीधे संपर्क में होता है, तो वह उनके पसंद और नापसंद की चीज़ों के बारे में अतिरिक्त जानकारी इकट्ठा करता है।      

8. समस्याओं और जिज्ञासाओं का त्वरित समाधान: संभाव्य खरीदार उत्पाद के बारे में पूछताछ कर सकता है। सेल्समैन इन प्रश्नों का उत्तर जल्दी देता है और खरीदार के मन में आ रही किसी भी संदेह को दूर करता है।      

9. ग्राहक का विश्वास जीतना: व्यवस्थित वाकपटुता और प्रस्तुति से एक सक्षम विक्रयकर्ता सभी संदेह, आपत्तियों और गलतफहमी को दूर कर सकता है और ग्राहक का विश्वास जीत सकता है। यह कंपनी और उसके ऑफ़र में ग्राहकों का विश्वास बढ़ाता है।      

10. कंपनी की ख्याति / छवि में सुधार करता है: ध्यान दें कि सेल्समैनशिप कंपनी की उपलब्धियों और प्रस्तावों को उजागर करके खराब छवि या गलतफहमी को दूर कर सकती है। कंपनी और उसके उत्पादों के बारे में विस्तृत विवरण सभी संदेहों और गलतफहमियों को दूर करता है। यह कंपनी की छवि और बाजार में प्रतिष्ठा को बहाल करने में मदद करता है।  11. सर्विस एलीमेंट : पर्सनल सेलिंग का मतलब किसी वस्तु को बेचकर छुटकारा पाना नहीं होता  या ग्राहकों को लिए धोखा नहीं होता। बल्कि यह ग्राहकों को समझदारी से खरीदने के लिए सहायता करने का एक तरीका है ।