वैयक्तित विक्रय हिंदी नोट्स

वैयक्तित विक्रय

वैयक्तित विक्रय विपणन कार्यक्रमों को लागू करने का एक साधन है । इसका संबंध ‘प्रेरक संचार’ से है। वैयक्तित विक्रय में एक विक्रयकर्ता संभाव्य ग्राहक (prospect) को मनाने की कोशिश करता है ताकि वह उत्पाद खरीदने का निर्णय ले सके। यह विक्रय बढ़ाने का एक प्रमुख कारक है। यह एक विक्रयकर्ता (Salesman) द्वारा भावी ग्राहक के लिए एक उत्पाद की प्रत्यक्ष प्रस्तुति है। इसे आमने-सामने या टेलीफोन के माध्यम से संपन्न किया जा सकता है  है । यह एक बिचौलिया या अंतिम उपभोक्ता को निर्देशित किया जा सकता है। वैयक्तित विक्रय खरीदार के मन में उत्पाद खरीदने के लिए इक्छाशक्ति , दृढ़ विश्वास और अंतिम निर्णय लेने के लिए राजी करने  का  एक उपकरण है। 

परिभाषा

  1. विलियम स्टैंटन और वाकर के अनुसार“वैयक्तित विक्रय किसी को कुछ खरीदने के लिए राजी करने के लिए सूचना का वैयक्तित संचार है।”
  2. महोनी और स्लोन के अनुसार“वैयक्तित विक्रय एक विक्रयकर्ता और संभाव्य ग्राहक या ग्राहकों के समूह के बीच वैयक्तित संचार है ।”